Home Loan

होम लोन की ईएमआई नहीं चुकाने पर क्या होता है? | Home Loan Emi Default In Hindi

होम लोन की ईएमआई नहीं चुकाने पर क्या होता है? Home Loan Emi Default In Hindi,  Home Loan Emi Nahi Chukane Par Kya Hota Hai? Consequences Of Home Loan EMI Default In Hindi 

घर खरीदने का सपना पूरा करना होम लोन की वजह से आसान हो गया है। होम लोन (Home Loan) एक वित्तीय उपाय है, जिसमें व्यक्ति एक घर खरीदने के लिए बैंक या वित्तीय संस्थान से पैसे उधार लेता है। यह लोन एक निश्चित अवधि के लिए होता है, जिसमें ब्याज सहित लोन का भुगतान मासिक किश्त पर करना होता है। लेकिन कई बार ऐसी परिस्थितियां सामने आ जाती है कि आप होम लोन की ईएमआई नहीं चुका पाते। हो सकता है कि आपकी सैलेरी समय पर नहीं मिली हो या अन्य कोई इमरजेंसी आ गई हो। 

क्या आप जानते हैं कि होम लोन की ईएमआई नहीं चुकाने पर क्या होगा? (What Happens If Home Loan Emi Not Paid In Hindi) आपको बैंक की किन कार्यवाहियों का सामना करना पड़ेगा?

Home Loan Emi Default In Hindi 

होम लोन की ईएमआई नहीं चुकाने के नुकसान | Disadvantages Of Home Loan EMI Default In Hindi 

1. ब्याज और जुर्माना

होम लोन की EMI लगातार नहीं अदा करने पर आप पर ब्याज बढ़ता जाता है और जुर्माना भी लगाया जा सकता है। इस तरह की आप पर वित्तीय बोझ बढ़ सकता है।

2. क्रेडिट स्कोर पर प्रभाव

Home Loan EMI Default से आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिससे आपको भविष्य में लोन लेने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

3. संपत्ति का जोखिम

होम लोन एक सिक्योर्ड लोन (secured loan)  है, जिसमें आपकी संपत्ति बंधक के रूप में बैंक के पास रहती है। लगातार ईएमआई न चुका पाने की स्थिति में बैंक आपकी संपत्ति पर कब्जा कर अधिकार कर सकता है और आपकी संपत्ति नीलामी कर बकाया की वसूली कर सकता है।

पढ़ें : एचडीएफसी बैंक से ग्रामीण आवास ऋण कैसे लें?

होम लोन की ईएमआई नहीं चुकाने पर बैंक की कार्यवाही| Bank’s Action When Home Loan EMI Not Paid

होम लोन की ईएमआई नहीं चुका पाने की स्थिति में बैंक निम्न कार्यवाही करता है :

1. तीन EMI न चुकाने के बाद रिमाइंडर

दो ईएमआई न चुकाने तक बैंक सामान्यतया कोई कार्यवाही नहीं करता। यह माना जाता है कि शायद किसी इमरजेंसी की वजह से लोन डिफॉल्ट हुआ होगा और आपको ब्याज सहित लोन चुकाने का मौका दिया जाता है। लेकिन यदि आपने लगातार 3 ईएमआई नहीं चुकाई, तो बैंक फौजदारी कार्यवाही प्रारंभ कर सकती है। सबसे पहले वह आपको बकाया ईएमआई चुकाने का रिमाइंडर भेजती है। यदि आपने रिमाइंडर मिलने पर लोन चुका दिया, तो आप पर आगे कोई कार्यवाही नहीं की जाती। 

2. लोन डिफॉल्टर घोषित करना

बैंक द्वारा होम लोन की EMI भुगतान का रिमाइंडर भेजने के बाद भी emi default जारी रहा, तो बैंक द्वारा आपको कानूनी नोटिस भेजकर लोन डिफॉल्टर घोषित किया जा सकता है।

3. संपत्ति की नीलामी

लोन डिफॉल्टर घोषित करने के बाद बैंक आपकी संपत्ति को जब्त करने की कार्यवाही प्रारंभ करती है। जब्ती उपरांत संपत्ति की नीलामी की प्रक्रिया शुरू होती है। बैंक आमतौर पर नीलामी के पूर्व आपको 6 माह का समय प्रदान करता है। यदि इस 6 माह में आपने ब्याज और जुर्माने सहित ईएमआई भुगतान कर दिया, तो नीलामी की कार्यवाही समाप्त कर दी जाती है, अन्यथा संपत्ति की नीलामी कर बकाया राशि वसूल की जाती है।

पढ़ें : होम लोन ईएमआई डिफॉल्ट होने पर क्या करें?

आशा है आपको  Home Loan EMI Default Consequences In Hindi जानकारी उपयोगी लगी होगी। जानकारी scocial media platform पर शेयर करें। ऐसी ही Loan, Banking Finance की जानकारी के लिए हमें subscribe करना न भूलें।

Home Loan क्या होता है?

Flexi Loan क्या होता है?

Term Loan क्या होता है?

Advance Salary Loan क्या होता है?

Overdraft Facility क्या होती है?

Leave a Comment